Rakesh Tikait Exclusive Interview: अमर उजाला ने राकेश टिकैत से की खास बातचीत, किसानों के मुद्दों पर हुई चर्चा

Exclusive Interview with farmer leader Rakesh Tikait

Rakesh Tikait Exclusive Interview
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


अमर उजाला का चुनावी रथ ‘सत्ता का संग्राम’ लोकसभा चुनाव को लेकर मतदाताओं की नब्ज टटोल रहा है। इसी कड़ी में मुजफ्फरनगर में चुनावी रथ पहुंचा। यहां चर्चा के दौरान किसान नेता राकेश टिकैत से अमर उजाला ने विशेष बातचीत की। जिसमें राकेश टिकैत से बतौर मतदाता और देश के किसान के तौर पर उनके मुद्दों समेत अन्य सवाल किए गए। आइए पढ़ते हैं बातचीत से जुड़े कुछ अंश

सवाल- बतौर मतदाता आप क्या सोच रहे, आपके मुद्दा रहेंगे?

जवाब- जिस दिन से आचार संहिता लग जाती है। हमने सोच रखा है उसके बाद हम राजनीति की बात नहीं करेंगे। इसके बाद करेंगे। जब जनता पांच साल में नहीं समझी तो हम 10 दिन में उसे क्या समझा लेंगे।

सवाल- आपकी नजर में कौन-सा मुद्दा प्रभावी है

जवाब- देश में कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है। लोग चुनाव के वक्त यह देखते है कि कौन मेरी जाति का है, कौन मेरा साथ आगे खड़ा होगा, कौन मेरे क्षेत्र का है या कौन बाहरी है। मुद्दों पर आधारित चुनाव अभी नहीं है। मुद्दों पर आधारित आंदोलन जरूर होते हैं। हमें इस समय मुद्दों पर आधारित लोग चाहिए। 

सवाल- क्यों राजनीतिक दलों के घोषणा पत्रों में किसान की फसलों के दाम की बात नहीं है

जवाब- आम किसानों को अपनी फसलों के उचित दाम से मतलब है। पूंजीवादियों का एक गैंग है। जिसने इस पार्टी पर कब्जा किया है। उसी गैंग की यह सरकार है। 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *