Delhi: वोटरों को लुभाने में जुटीं पार्टियां, साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट ने AI और डीपफेक के दुरुपयोग पर जताई चिंता

Cyber security experts raise concerns over misuse of AI and deepfake technology to influence voters

एआई (प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


आम चुनावों से पहले राजनीतिक दल मतदाताओं को लुभाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों ने मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए एआई और डीपफेक तकनीकि सहित अन्य टेक्नोलॉजी के दुरुपयोग पर चिंता जताई है। भारत में लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से एक जून के बीच सात चरणों में होंगे। भारत निर्वाचन आयोग ने फर्जी खबरों और गलत सूचनाओं की पहचान और त्वरित प्रतिक्रिया के लिए पहले ही मानक संचालन प्रक्रिया जारी कर दी है।

दिल्ली क्राइम ब्रांच के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि डीपफेक वीडियो और वॉयस क्लोनिंग दो उपकरण हैं, जिनका चुनाव अभियान के दौरान बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जा सकता है। उनका मानना है कि पुलिस के सामने एक बड़ी चुनौती है, ऐसी सामग्री का समय पर पता लगाना और त्वरित कार्रवाई करना है। ऐसी कोई तकनीक उपलब्ध नहीं है, जो एआई का उपयोग करके बनाई गई असली और नकली वीडियो के बीच अंतर स्पष्ट कर सके।

अधिकारी ने कहा, ‘जब तक इस पर ध्यान जाता है, तब तक नुकसान हो चुका होता है क्योंकि यह सोशल मीडिया पर फैल जाता है।’ जनवरी 2024 में अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी के न्यू हैम्पशायर प्राइमरी के दौरान राष्ट्रपति जो बिडेन की आवाज की नकल करने वाले एक रोबोकॉल ने मतदाताओं को भाग न लेने की झूठी सलाह दी। यह दावा करते हुए कि यह आम चुनाव के लिए उनकी पात्रता को प्रभावित करेगा।

स्लोवाकिया में एक एआई-जनरेटेड आवाज, एक उदार उम्मीदवार की नकल करते हुए, शराब की कीमतें बढ़ाने और चुनाव में धांधली की योजना पर चर्चा करते हुए फेसबुक पर व्यापक रूप से प्रसारित की गई थी। इसी तरह, फरवरी 2023 के नाइजीरियाई चुनावों के दौरान मतपत्रों में हेरफेर करने की योजना में एक हेरफेर किए गए ऑडियो क्लिप ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को झूठा फंसाया। बांग्लादेश में, राष्ट्रीय चुनावों से पहले सोशल मीडिया पर विपक्षी राजनेताओं रुमिन फरहाना की बिकनी में और निपुण रॉय के स्विमिंग पूल में डीपफेक वीडियो सामने आए।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *