यश हत्याकांड: गलत संगत ने छीन लिया घर का चिराग, CRPF की महिला दरोगा का भाई है एक आरोपी, दूसरा इंजीनियर का बेटा

Greater Noida murder case One accused is brother of a CRPF female inspector and other is the son of a engineer

Greater Noida murder case
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


अमरोहा के गजरौला निवासी बीबीए के छात्र यश मित्तल की हत्या से जहां उसका परिवार बुरी तरह से टूट चुका है। पढ़ाई में तेज यश मित्तल दोस्तों की सीरत नहीं पढ़ सका। उसकी संगत में ऐसे युवा थे, जिन्होंने उसकी जान ले ली। उसकी हत्या करने वाले आरोपियों के परिवार भी हैरान हैं। वजह, हत्या में शामिल पांचों आरोपियों को अपराध से कोई नाता नहीं रहा है।

यश मित्तल प्रारंभिक शिक्षा से लेकर इंटरमीडिएट तक प्रथम श्रेणी में पास होने वाले यश के उज्ज्वल भविष्य को लेकर परिजन उसे अच्छी शिक्षा दिलाना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने उसे नोएडा की बैनेट यूनिवर्सिटी में बीबीए में दाखिला दिलाया था। लेकिन गलत संगत वाले दोस्तों ने उनकी उम्मीदों को धराशायी कर दिया। 

यश के परिजनों ने बताया कि उसने हाईस्कूल व इंटरमीडिएट गजरौला के ही सेंट मेरी स्कूल से प्रथम श्रेणी में पास किया। बताया कि लक्ष्मी नगर मोहल्ला निवासी सुशांत वर्मा भी उसके साथ पढ़ता था। उसका आना जाना घर पर रहता था। दो साल पहले ही सुशांत वर्मा ने रचित नागर और शुभम चौधरी से मुलाकात कराई थी। बताया जाता है कि तीनों की संगत ठीक नही थी। दोस्तों ने यश को मौत के घाट उतार कर परिजनों को कभी न भूलने वाला दर्द दे दिया है।

इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबारी प्रदीप मित्तल के बेटे यश मित्तल का दादरी से अपहरण करने के बाद हत्या कर दी गई थी। आरोपियों ने यश के पिता से छह करोड़ की फिरौती भी मांगी थी। सीओ श्वेताभ भास्कर का कहना है कि गजरौला व सैदनगली निवासी सभी आरोपियों में किसी का भी पुराना कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। हालांकि, सभी यश हत्याकांड में शामिल रहे। दादरी पुलिस ने सभी गिरफ्तार कर लिया है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *